Thursday, July 3, 2014

जब मोहब्बत बेहिसाब की .....

"जब मोहब्बत बेहिसाब की
 तो ज़ख्मो का
हिसाब
क्या करना।"
अक्ल कहती है की
 मारा जाएगा,
इश्क कहता है की
देखा
जाएगा.....


No comments:

Post a Comment